+

समृद्धि और खुशियों का कक्ष लिविंग रूम को बनाएं, वास्तु के बस ये नियम अपनाएं

घर में लिविंग रूम एकमात्र ऐसा स्थान होता है जहां पर पूरा परिवार पूरे दिन में एक बार साथ में जरूर बैठता है और समय व्यतीत करता है। परिवार के सदस्य वहां पर साथ में बैठकर एक दूसरे का दिन कैसा निकला है उसके बारे में पूछते हैं 


ऐसे में सकारात्मक इस स्थान का वास्तु होना बेहद जरूरी होना चाहिए कोई मनमुटाव परिवार के लोगों के बीच में न हो साथ ही उन सबका जीवन सुखमय गुजरे इसके लिए वास्तु अनुरूप होना लिविंग रूम का अवश्य होता है इसके अलावा दीवारों का रंग, सजावट, फर्नीचर आदि इनका भी स्थान होना बेहद जरूरी हैझगड़ा, तनाव, स्वास्थ्य संबंधी जैसी समस्यांए  इनके असंतुलित होने से होते हैं 

रंग और सजावट से रहे सकारात्मकता 


रंग हल्का, शांत व सौम्य लिविंग रूम की दीवारों का होना चाहिए। हल्के नीले, हरे, पीले और पीच रंगों का इस्तेमाल आप इसके लिए कर सकते हैं। लिविंग रूम  में काला,गहरा नीला या भूरे रंगों जैसे तामसिक रंग कराने से बचें। वातावरण को बोझिल भारी सामान एवं अत्याधिक सजावट बनाता है। युद्ध, शिकार, रक्तरंजित दृश्य, सूखी हुई ज़मीन व उदारंग हल्का, शांत व सौम्यसी वाले चित्र और तस्वीरें दीवारों पर बिल्कुल भी ना लगाएं। 

पेंटिंग सावधानी से लगाएं 


घोड़ों की तस्वीर बैठक कक्ष की दक्षिणी दीवार पर या घर के अंदर आते हुए दीवार पर लगाएं। घर में धन संबंधी समस्याएं घोड़ों की तस्वीर लगाने से दूर हो जाती है साथ ही ये तस्वीर लगाने से प्रसिद्धि और यश भी जीवन में आता है जब भी आप घोड़ों की तस्वीरें खरीदते हैं तो ध्यान रखें की प्रसन्न मुद्रा में उनका मुख हो गुस्सा करती तस्वीरों से बचें पूर्व दिशा में उगते हुए सूरज की तस्वीर सकारात्मक ऊर्जा के स्तर में वृद्धि पाने के लिए अच्छा माना गया है 

द्वार समृद्धि का होना चाहिए 


घर का आइना द्वार को माना गया है इसलिए इसे साफ-सुथरा रखना जरूरी होता है। द्वार पर ज्यादा तड़क-भड़क वाली तस्वीरें नहीं लगानी चाहिए साथ ही स्वास्तिक, ॐ, कलश, पवनघंटी, शंख, मछलियों का जोड़ा, तोरण या आशीर्वाद मुद्रा में बैठे गणेश जी जैसे शुभ प्रतीक वाले चिह्न को लगाना शुभ माना जाता है। 

सही स्थान एक्वेरियम का


घर में फिश एक्वेरियम रखने खुशियां आती हैं साथ ही परिवार वालों की भी सारी परेशानियां दूर या टल जाती हैइसे रखने से सकारात्मक ऊर्जा एवं धन आगमन की निरंतरता घर में हमेशा बनी रहती है लिविंग रूम के पूर्व, उत्तर या उत्तर-पूर्व दिशा में एक्वेरियम को रखना शुभ होता है  

फर्नीचर ऐसा हो 


दक्षिण या पश्चिम दिशा की दीवार पर भारी सोफे जैसे फर्नीचर रखें। साथ ही पूर्व या उत्तर की दीवार की तरफ हल्का फर्नीचर रखना शुभ होता है। वास्तु के अनुसार पूर्व या उत्तर की तरफ घर के मुख्या का मुंह होना चाहिए। घर में लकड़ी के फर्नीचर रखने से सकारात्मक ऊर्जा आती है। घर में दुर्भाग्य फटा-फूटा फर्नीचर रखने से है। इसके अलावा नकारात्मक ऊर्जा भी घर में आती है। 
Tags : Chhattisgarh,Punjab Kesari,जगदलपुर,Jagdalpur,Sanctuaries,Indravati National Park ,living room,room,house,Family members