+

यूपी पंचायत चुनाव के पहले चरण के तहत 18 जिलों में मतदान जारी, मतदान केंद्रों पर लगी भीड़

कोरोना संक्रमित लोगों को पीपीई किट पहनकर वोट डालने की अनुमति दी गई है। 18 जिलों में जिला पंचायत सदस्य के 779, क्षेत्र पंचायत के 19,313 व ग्राम प्रधान के 14,789 पदों के चयन के लिए लोग सुबह सात बजे से ही मतदान केंद्र पहुंच रहे हैं।
यूपी पंचायत चुनाव के पहले चरण के तहत 18 जिलों में मतदान जारी, मतदान केंद्रों पर लगी भीड़
उत्तर प्रदेश में कोरोना की दूसरी लहर उफान पर है। इसी के बीच गांव में सरकार बनाने के लिए मतदान सुबह सात बजे से शुरू हो गया है। सुबह से ही मतदान केंद्रों पर भीड़ उमड़ने लगी है। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए लोग अपने मताधिकार का प्रयोग करते देखे गए। कोरोना संक्रमित लोगों को पीपीई किट पहनकर वोट डालने की अनुमति दी गई है। 18 जिलों में जिला पंचायत सदस्य के 779, क्षेत्र पंचायत के 19,313 व ग्राम प्रधान के 14,789 पदों के चयन के लिए लोग सुबह सात बजे से ही मतदान केंद्र पहुंच रहे हैं। 
51176 मतदान केंद्रों पर 3,16,46,162 मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग करेंगे। चुनाव में 2,99,012 उम्मीदवारों का भाग्य मतपेटियों में बंद होगा। राज्य निर्वाचन आयोग ने मतदान के दौरान सुरक्षा और कोविड-19 प्रोटोकॉल के पालन का दावा किया है। 18 जिला पंचायतों के 779 वार्डो में 11,749, क्षेत्र पंचायत के 19313 वार्डो में 71,418 उम्मीवादर चुनाव लड़ रहे हैं। 14,789 ग्राम पंचायतों में प्रधान पद के लिए 108562 और ग्राम पंचायतों के 186583 वार्डो में 107283 उम्मीदवारों के बीच मुकाबला होगा। चुनाव के दौरान कानून एवं शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए 468 जोनल मजिस्ट्रेट, 2976 सेक्टर मजिस्ट्रेट तैनात किए गए हैं। 
जिला पंचायत सदस्य चुनाव के लिए 18 रिटर्निग अधिकारी, 78 सहायक रिटर्निग अधिकारी, क्षेत्र पंचायत सदस्य चुनाव के लिए 212 रिटर्निग अधिकारी, ग्राम पंचायत प्रधान चुनाव के लिए 212 रिटर्निग अधिकारी और ग्राम पंचायत सदस्य चुनाव के लिए 2372 सहायक रिटर्निग अधिकारी नियुक्त किए गए हैं। अयोध्या, आगरा, कानपुर नगर, गाजियाबाद, गोरखपुर, जौनपुर, झांसी, प्रयागराज, बरेली, भदोही, महोबा, रामपुर, रायबरेली, श्रावस्ती, संतकबीर नगर, सहानपुर, हरदोई और हाथरस में मतदान हो रहा है। 
सुरक्षा की दृष्टि से झांसी, सहारनपुर, कानपुर, हरदोई, गाजियाबाद व गोरखपुर को संवेदनशील माना जा रहा है। कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए मतदान केंद्रों पर कोविड प्रोटोकाल का सख्ती से पालन कराया जाएगा। मतदान केंद्र के बाहर छह-छह फीट की दूरी पर घेरे बनाने के आदेश हैं, ताकि मतदाता सुरक्षित शारीरिक दूरी का पालन कर सकें। मतदान कर्मियों व सुरक्षा कर्मियों के लिए भी बचाव उपायों का पालन कराया जा रहा है। कोरोना संक्रमण के कारण पंचायत चुनाव स्थगित करने की अफवाहें बुधवार को दिनभर गर्म रहीं।
 सोशल मीडिया पर चुनाव स्थगित करने को लेकर तरह-तरह की अफवाहें चलती रहीं। शाम को पंचायतीराज विभाग के अपर मुख्य सचिव मनोज कुमार सिंह ने सभी चर्चाओं को फर्जी करार देते हुए कहा कि पंचायत चुनाव निर्धारित तिथियों पर ही कराए जाएंगे। पंचायत चुनावों को विधानसभा चुनाव 2022 का सेमीफाइनल माना जा रहा है। चार चरण में होने वाले मतदान में पहले चरण में आज वोट डाले जा रहे हैं। दूसरे चरण में मतदान 19 अप्रैल को, तीसरे में 26 और चौथे में 29 अप्रैल को होगा। दो मई को वोटों की गिनती होगी।

facebook twitter instagram