+

खुद बनना चाहते थे क्रिकेटर, पिता का सपना पूरा कर बना भारत का सबसे तगड़ा गेंदबाज

जहीर खान ने 14 साल तक भारतीय क्रिकेट टीम में अपनी सेवा दी, जिसमें उन्होंने 92 टेस्ट और 200 एकदिवसीय और 17 टी 20 मुकाबले खेले. वहीं उन्होंने 311 विकेट टेस्ट मैचों में, 282 विकेट वनडे और 17 विकेट टी20 मुकाबले में चटकाए.
खुद बनना चाहते थे क्रिकेटर, पिता का सपना पूरा कर बना भारत का सबसे तगड़ा गेंदबाज
भारत के दिग्गज तेज गेंदबाज जहीर खान शुक्रवार यानी कि सात अक्तूबर को 44 साल के हो गए. अपने 14 साल के अंतरराष्ट्रीय करियर में दुनिया भर में छा जाने वाले जहीर ने कुल 610 विकेट लिए है. माना जाता है कि उन्होंने ही 'नकल बॉल' का आविष्कार किया था जिससे उन्होंने 2011 के विश्व कप में तहलका मचा दिया था. माना जाता है कि जहीर कभी भी क्रिकेटर नहीं बनना चाहते थे, उनका मन था कि वो इंजीनियर बने. दरअसल उनके फादर का सपना था कि वो क्रिकेटर बने, जिसके बाद उन्होंने अपने पापा का सपना पूरा करने के लिए जी जान एक दिया और फिर वो भारत के एक सक्सेसफुल क्रिकेटर बने.
उनका जन्म 1978 में महाराष्ट्र के अहमदनगर में हुआ था. जन्म के कुछ सालों बाद उनकी पिता से बातचीत हुई कि आगे जीवन में उनको करना क्या है, जिसपर जहीर ने इच्छा जताई कि वो इंजीनियर बनना चाहते हैं, जिस पर उनके पिता ने उनसे कहा कि बेटा देश में इंजीनियर तो बहुत हैं, तुम तेज गेंदबाज बनो और देश के लिए खेलो. जिसके बाद जहीर के पिता ने उन्हें 17 साल की उम्र में मुंबई ले गए. इसके बाद जहीर ने जिमखाना के खिलाफ फाइनल सात विकेट हासिल किए और सुर्खियों में आ गए और यहीं से जहीर खान के क्रिकेट करियर की शुरुआत हुई और उन्हें मुंबई और वेस्ट जोन की अंडर-19 टीम में शामिल कर लिया गया. 
इसके बाद जहीर लगातार आगे बढ़ते गए और भारतीय टीम में जगह बनाते हुए सफलता की सीढ़ियां चढ़ने चले गए. उन्होंने साल 2000 में टीम इंडिया के लिए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू किया.
जहीर खान ने 14 साल तक भारतीय क्रिकेट टीम में अपनी सेवा दी, जिसमें उन्होंने 92 टेस्ट और 200 एकदिवसीय और 17 टी 20 मुकाबले खेले. वहीं उन्होंने 311 विकेट टेस्ट मैचों में, 282 विकेट वनडे और 17 विकेट टी20 मुकाबले में चटकाए. इसके अलावा जहीर100 आईपीएल मुकाबले भी खेल चुके है, जिसमें उन्होंने 102 विकेट हासिल किए हैं.  
वहीं जहीर खान ने 2011 के विश्व कप में भी भारतीय टीम की तरफ से गेंदबाजी का कमान संभाल रहे थे और उन्होंने एक दमदार प्रदर्शन कर भारतीय टीम को 28 साल बाद विश्व कप विजेता बनाने में अहम किरदार निभाया. इससे पहले 2003 के विश्व कप में भी  गांगुली की अगुवाई में जहीर खान ने जबरदस्त प्रदर्शन करते हुए टीम को फाइनल में पहुंचाने में अहम भूमिका निभाई थी. 
जहीर खान वो खिलाड़ी है, जो वर्ल्ड कप इतिहास में भारत की तरफ से सबसे अधिक विकेट लिए हैं. उन्होंने मात्र 23 वर्ल्ड कप मैचों में 20.22 की औसत से 44 विकेट अपने नाम किए हैं.
facebook twitter instagram