+

पश्चिम बंगाल पुलिस को तृणमूल कार्यकर्ता की तरह काम करने की बजाय इस्तीफा देकर सब्जी बेचनी चाहिए : घोष

पुलिस प्रशासन पर हमला बोलते हुए घोष ने आरोप लगाया कि ज्यादातर “पुलिसकर्मियों के पास हिम्मत नहीं है” कि वह राज्य में “भ्रष्ट” तृणमूल सरकार के खिलाफ आवाज उठा सकें।
पश्चिम बंगाल पुलिस को तृणमूल कार्यकर्ता की तरह काम करने की बजाय इस्तीफा देकर सब्जी बेचनी चाहिए : घोष
पश्चिम बंगाल भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने शनिवार को उत्तरी चौबीस परगना जिले के बेलघरिया क्षेत्र में ‘चाय पर चर्चा’ कार्यक्रम में दौरान विपक्षी दलों के साथ “पक्षपातपूर्ण रवैया” अपनाने के लिए शनिवार को राज्य पुलिस की आलोचना की।  उन्होंने कहा कि “इससे तो अच्छा है कि पुलिस अधिकारी अपने पदों से इस्तीफा देकर सब्जी बेचने का काम करें।” 
पुलिस प्रशासन पर हमला बोलते हुए घोष ने आरोप लगाया कि ज्यादातर “पुलिसकर्मियों के पास हिम्मत नहीं है” कि वह राज्य में “भ्रष्ट” तृणमूल सरकार के खिलाफ आवाज उठा सकें। घोष ने कहा, “कार्य में दक्ष अधिकारियों को हाशिये पर डाल दिया गया है और नकारा कर्मियों को उच्च पद दिए गए हैं ताकि वे तृणमूल के कार्यकर्ता के तौर पर काम कर सकें। उनके परिवार वाले भी उन पर हंसते होंगे।” 
उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल में तृणमूल सरकार के “गिने चुने” दिन रह गए हैं। मेदिनीपुर से सांसद घोष ने कहा, “भ्रष्ट पुलिसकर्मी बेशर्म हैं। उन्हें तृणमूल के कार्यकर्ता के तौर पर काम करने की बजाय इस्तीफा देकर सब्जी बेचना चाहिए और निष्ठापूर्वक जीवन यापन करना चाहिए।” 
तृणमूल कांग्रेस ने घोष को जवाब देते हुए कहा कि राज्य की पुलिस स्वतंत्र और निष्पक्ष तरीके से काम करती है। पार्टी ने कहा कि पश्चिम बंगाल पुलिस, भाजपा शासित उत्तर प्रदेश की तरह नहीं है जहां पुलिस ने फर्जी मुठभेड़ के नाम पर आतंक मचा रखा है।


विश्व में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 2 करोड़ 86 लाख के पार, सवा 9 लाख से अधिक लोगों की मौत 


facebook twitter