+

केंद्र को सामुदायिक प्रसार की बात मानने मे क्या समस्या हैः सत्येंद्र जैन

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने सोमवार को कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में लाखों मामले आने के बाद भी केंद्र सरकार को कोरोना वायरस के सामुदायिक प्रसार की बात मानने में क्या समस्या है।
केंद्र को सामुदायिक प्रसार की बात मानने मे क्या समस्या हैः सत्येंद्र जैन
दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने सोमवार को कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में लाखों मामले आने के बाद भी केंद्र सरकार को कोरोना वायरस के सामुदायिक प्रसार की बात मानने में क्या समस्या है।
पत्रकार वार्ता में एक सवाल के जवाब में जैन ने यह टिप्पणी है। इससे एक दिन पहले केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कहा था कि देश में सामुदायिक संचरण कुछ राज्यों के कुछ जिलों में ही हुआ और साफ किया था कि यह पूरे देश में नहीं हो रहा है। दिल्ली में सोमवार को कोरोना वायरस के 2154 नए मामले आए हैं और 31 मरीजों की मौत हुई है। इसके बाद पुष्ट मामलों की संख्या 3.33 लाख से ज्यादा हो गई है जबकि मृतक संख्या 6040 पहुंच गई है।
जैन ने कहा, मैं यह महीनों से कह रहा हूं। इतनी बड़ी संख्या में मामले आने के बावजूद, मुझे नहीं पता कि उनका मामला क्या है, वे (केंद्र) इसे स्पष्ट रूप से स्वीकार कर सकते हैं। यदि लाखों की संख्या में मामले आने को भी सामुदायिक प्रसार नहीं कहा जाता है, तो इसे सामुदायिक प्रसार कब कहा जाएगा। उन्होंने कहा कि सितंबर में हुए सीरो सर्वेक्षण के मुताबिक 25 फीसदी नमूनों में कोविड-19 के खिलाफ एंटी बॉडिज़ मिली थीं, यानी करीब 50 लाख लोग संक्रमित होकर ठीक हो चुके हैं। जैन ने कहा, सामुदायिक प्रसार की बात मानने में उन्हें क्या समस्या है, यह वही जानें। 
facebook twitter instagram