होटल के कमरों में इन 5 वजहों से बिछाई जाती है सफेद रंग की चादर

छुट्टियों में अक्सर लोग अपनी फैमिली के साथ बाहर घूमने जरूर जाते हैं। इस दौरान आप सब ही होटल में रुकते हैं। इस दौरान आप सबने होटल में एक चीज जरूर नोटिस की होगी। होटलों के कमरों में सफेद रंग की ही बेडशीट होती है। 


आप दुनिया के किसी भी होटल में चले जाएं सफेद रंग की चादर आपको कमरों में मिलेगी। कभी आपने सोचा है कि आखिर होटल में सफेद रंग की चादर क्यों बिछाते हैं। चलिए इसके पीछे की खास वजह के बारे में आज हम आपको बताते हैं। 

1. सुकून और आरामदायक 


सफेद रंग की बेडशीट पर सोने से सुकून मिलता है। अगर आप किसी दूसरे रंग की चादर पर सोते हैं तो आपको कभी भी सुकून का एहसास नहीं होता है। यही वजह है कि होटल के कमरों में सफेद चादर बिछाई जाती है साथ ही इस पर सोने से आराम भी मिलता है। आंखों में सुकून भी सफेद रंग ही देता है बाकी रंग हमेशा आंखों में चुभते हैं। लोगों को सुकून और शांति मिले इसी वजह से होटल में सफेद रंग की बेडशीट बिछाई जाती है। 

2. आसानी से पता चलता है गंदा होने पर


दाग या गंदगी का तुरंत ही सफेद रंग पर पता चल जाता है। सफेद रंग पर दाग-धब्बे जल्दी दिखाई देता है और इन्हें देखकर ही होटल स्टाफ कमरों की बेडशीट को जल्दी ही बदल देते हैं। बाकी रंगों या प्रिटेंड बेडशीट पर कभी भी गंदगी और दाग का जल्दी नहीं पता चलता है जिसकी वजह से वह कई दिनों तक बिछी रहती है। साफ-सफाई के तौर पर भी सफेद रंग की बेडशीट होटल में इस्तेमाल की जाती है। 

3. आसान होता है साफ करना


सफेद कपड़ों को ब्लीच में धोने से सारे दाग-धब्बे आसानी से साफ हो जाते हैं। वहीं रंगीन कपड़े ब्लीच में नहीं धो सकते हैं क्योंकि ब्लीच रंग को हटा देता है। सफेद बेडशीट को होटल स्टाफ ब्लीच में ही साफ करते हैं ताकि सारे दाग-धब्बे आसानी से साफ हो जाएं। इसके साथ ही चादरों में कीटाणु को भी ब्लीच मार देता है। इस बड़ी वजह से भी सफेद चादर को होटल में यूज किया जाता है। 

4. तनाव दूर करता है सफेद रंग


मनोवैज्ञानिकों के अनुसार, आंखों को सफेद रंग सुकून तो देता ही है साथ में तनाव को भी दूर करता है। जब लोग छुट्टियां बिताने बाहर जाते हैं तो होटल का स्टाफ इस बात का पूरा ध्यान रखते हैं कि होटल कमरे में आप तानव से दूर अपनी छुट्टियों को एनॅजोय कर सकें। इसी वजह से होटल में सफेद चादर का इस्तेमाल किया जाता है। 

5. खास वजह


बता दें कि होटल में साल 1990 तक रंगीन चादर बिछाई जाती थी। ऐसा इसलिए होता था क्योंकि होटल के मालिकाें को लगता था कि रंगीन चादारों को आसानी से मेंटेन किया जा सकता है और मेहमानों को इसमें दाग जल्दी नहीं दिखाई देंग और वह कुछ शिकायत भी नहीं करेंगे। लेकिन 1980 में वेस्टीन होटल के डिजाइनरों ने एक रिचर्स की मेहमानों के स्वास्‍थ्य के लिहाज से सफेद चादर को इस्तेमाल करना चाहिए। इसके बाद से हर होटल में सफेद चादर को यूज करना शुरु कर दिया गया। 
Tags : Chhattisgarh,Punjab Kesari,जगदलपुर,Jagdalpur,Sanctuaries,Indravati National Park ,hotel rooms,holidays,hotel