+

कौन होगा राजस्थान का अगला मुख्यमंत्री? आज शाम 7 बजे बैठक में सचिन पायलट के नाम पर होगा बड़ा फैसला

आज शाम 7 बजे मुख्यमंत्री आवास पर कांग्रेस विधायक दल की बैठक हो सकती है। बैठक में प्रदेश प्रभारी अजय माकन और मल्लिकार्जुन खड़गे मौजूद रहेंगे।
कौन होगा राजस्थान का अगला मुख्यमंत्री? आज शाम 7 बजे बैठक में सचिन पायलट के नाम पर होगा बड़ा फैसला
राजस्थान में चल रही मुख्यमंत्री पद को हथियाने की दौड़ अब तेज हो गई है। दौड़ में सीपी जौशी के बाद अब प्रशादी लाला मीणा के साथ कई अन्य विधायकों का नाम भी सामने आ रहा है। इधर अशोक गहलोत खुद सीएम पद पर काबिज रहना चाहते हैं, लेकिन राहुल गांधी के बयान के बाद गहलोत तो पद छोड़ने के लिए राजी हो गए लेकिन अब सचिन पायलट के अलावा भी कई अन्य नेताओं का नाम भी सामने आ रहा है। 
दरअसल, राजस्थान में मुख्यमंत्री पद को लेकर सियासत गर्म है। एक तरफ तो गहलोत के बाद पायलट सीएम बनना चाहते हैं, वहीं कई अन्य नेता भी अब इस पद को हथियाने की कवायद में हैं। इसी को लकेर आज शाम 7 बजे मुख्यमंत्री आवास पर कांग्रेस विधायक दल की बैठक हो सकती है। बैठक में प्रदेश प्रभारी अजय माकन और मल्लिकार्जुन खड़गे मौजूद रहेंगे। 
सीएम पद के लिए सचिन पायलट के नाम पर होगी चर्चा 
गहलोत के कांग्रेस अध्यक्ष बनने के बाद सरकार का नेतृत्व कौन करेगा इसे लेकर संशय की स्थिति है। इस संशय को दूर करने के लिए कांग्रेस आलाकमान सोनिया गांधी ने दो वरिष्ठ नेताओं को जयपुर भेजा है। माकन और खड़गे की मौजूदगी में नए मुख्यमंत्री पर मंथन होगा। चर्चा है कि सीएम पद के लिए सचिन पायलट के नाम पर कांग्रेस विधायकों की राय ली जाएगी। दोनों नेता कांग्रेस आलाकमान को विधायकों की राय से अवगत कराएंगे। 
जयपुर से दिल्ली पहुंचे पायलट 
चर्चा है कि राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत 28 सितंबर को कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए नामांकन दाखिल करेंगे। इस मौके पर राजस्थान के मंत्री, विधायक, पदाधिकारी और अग्रिम संगठनों के नेता और अधिकारी भी मौजूद रहेंगे। इस बीच सीएम पद के प्रबल दावेदार माने जा रहे सचिन पायलट दिल्ली पहुंच गए हैं। चर्चा है कि सचिन पायलट कल दिल्ली में प्रदेश प्रभारी अजय माकन से मुलाकात करेंगे। इसके बाद पायलट के सोनिया गांधी से मिलने की उम्मीद है। अब तक जब मुख्यमंत्री अशोक गहलोत राष्ट्रीय अध्यक्ष को मनोनीत करते थे तो इसे लेकर कयास लगाए जा रहे थे, अब यह स्पष्ट है कि गहलोत 28 सितंबर को ही अपना नामांकन दाखिल करेंगे। 
सोनियां व राहुल गांधी से दोनों पदों पर रहने का अनुरोध कर सकते हैं गहलोत 
ऐसे में राजस्थान में उनके मंत्रिमंडल में शामिल मंत्री और राजस्थान कांग्रेस के विधायक भी 28 सितंबर को नामांकन के दिन दिल्ली में मौजूद रहेंगे। राजस्थान के मंत्री-विधायक ही नहीं बल्कि राजस्थान कांग्रेस के प्रमुख पदाधिकारी भी मौजूद रहेंगे। इस दौरान दिल्ली में फॉरवर्ड संगठनों के नेता भी मौजूद रहेंगे। इसके लिए सभी नेताओं को 27 सितंबर की शाम तक दिल्ली पहुंचने को कहा गया है। चर्चा है कि गहलोत के समर्थक मंत्री सोनिया गांधी से मिल सकते हैं। मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने मिलने के संकेत दिए हैं। उनका कहना है कि सीएम गहलोत सोनिया गांधी और राहुल गांधी से दोनों पदों पर रहने का अनुरोध करेंगे। 

facebook twitter instagram