+

उत्तर प्रदेश में कांग्रेस का CM चेहरा होंगी प्रियंका गांधी? सलमान खुर्शीद ने कहा- राज्य में है पार्टी की कप्तान

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद ने कहा है कि पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा यह तय करेंगी कि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में वह मतदाताओं के बीच खुद को कैसे पेश करेंगी, लेकिन यह जरूर है कि वह एक ‘बेहतरीन चेहरा’ हैं और राज्य में पार्टी की ‘कप्तान’ हैं।
उत्तर प्रदेश में कांग्रेस का CM चेहरा होंगी प्रियंका गांधी? सलमान खुर्शीद ने कहा- राज्य में है पार्टी की कप्तान
उत्तर प्रदेश में 2022 में विधानसभा चुनाव होने वाले है, जिसको मद्देनजर सभी राजनितिक दल अपनी अपनी तैयारियों में जुट गए है। इसी बीच कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद ने कहा है कि पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा यह तय करेंगी कि आगामी चुनाव में वह मतदाताओं के बीच खुद को कैसे पेश करेंगी, लेकिन यह जरूर है कि वह एक ‘बेहतरीन चेहरा’ हैं और राज्य में पार्टी की ‘कप्तान’ हैं।
उन्होंने यह उम्मीद भी जताई कि चुनाव से पहले कांग्रेस ही भाजपा के खिलाफ मुख्य प्रतिद्वंद्वी की भूमिका में होगी। खुर्शीद ने कहा कि कांग्रेस गठबंधनों के लिए इंतजार नहीं करती रहेगी, बल्कि पूरी ताकत के साथ वह चुनाव लड़ने को लेकर प्रतिबद्ध है।
यह पूछे जाने पर कि क्या मुख्यमंत्री पद के चेहरे के लिए प्रियंका गांधी ही सर्वश्रेष्ठ विकल्प हैं तो पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘‘जब तब वह हमें कोई संकेत नहीं देतीं, तब तक मैं इसका जवाब नहीं दूंगा। लेकिन वह एक अद्भुत, बेहतरीन चेहरा हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘आप एक तरफ योगी आदित्यनाथ की तस्वीर रखिए और दूसरी तरफ प्रियंका गांधी की तस्वीर रखिए। आपको कोई सवाल पूछने की जरूरत नहीं होगी।’’
खुर्शीद ने इस बात पर जोर दिया कि यह फैसला प्रियंका गांधी को खुद करना है कि मतदाताओं के बीच किस तरह से जाना है । उन्होंने कहा, ‘‘मैं आशा करता हूं कि वह फैसला करेंगी और हमें जानकारी देंगी। जहां तक हमारा सवाल है तो वह हमारी कप्तान हैं और हमारा नेतृत्व कर रही हैं।’’
गठबंधन की संभावना को लेकर पूछे जाने पर खुर्शीद ने कहा कि उनकी जानकारी के मुताबिक, कांग्रेस की किसी दल के साथ बातचीत नहीं चल रही है। उनके मुताबिक, अगर पार्टी नेतृत्व कोई फैसला करता है तो बात अलग है। उल्लेखनीय है पिछले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन में चुनाव लड़ा था।
उस चुनाव में कांग्रेस सिर्फ सात सीटें जीत सकी और सपा को 47 सीटें मिली थीं। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने हाल ही में एक साक्षात्कार में कहा था कि उनकी पार्टी आगामी चुनाव में कांग्रेस और बसपा जैसे बड़े दलों के साथ गठबंधन नहीं करेगी।

facebook twitter instagram