+

इन नियमों के साथ सितम्बर में शुरू हो सकता है दिल्ली मेट्रो का परिचालन, DMRC प्रमुख ने किया मुआयना

डीएमआरसी ने एक ट्वीट में कहा, ‘‘ डीएमआरसी के प्रमुख मंगू सिंह ने राजीव चौक मेट्रो स्टेशन का मुआयना किया। विभिन्न परिचालन प्रणाली और रखरखाव गतिविधियों के प्रभावी कामकाज की जांच करने के लिये यह नियमित निरीक्षण का हिस्सा था।’’
इन नियमों के साथ सितम्बर में शुरू हो सकता है दिल्ली मेट्रो का परिचालन, DMRC प्रमुख ने किया मुआयना
कोरोना के मद्देनजर लागू लॉकडाउन के चलते 22 मार्च से बंद पड़ी दिल्ली मेट्रो जल्द ही दोबारा शुरू हो सकती है। मिली जानकारी के मुताबिक दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (DMRC) सितम्बर से कुछ प्रतिबंधों के साथ कुछ रूट पर अपनी सेवाएं फिर से शुरू कर सकता है। डीएमआरसी प्रमुख मंगू सिंह ने बृहस्पतिवार को राजीव चौक मेट्रो स्टेशन के परिचालन प्रणाली के संचालन और रखरखाव की जांच के लिए स्टेशन का मुआयना किया। अधिकारियों ने यह जानकारी दी।
यह मुआयना ऐसे समय में किया गया है जब ऐसी उम्मीदें जताई जा रही हैं कि उचित सुरक्षा नियमों के साथ मेट्रो सेवा का परिचालन शुरू किया जा सकता है। हालांकि, दिल्ली मेट्रो रेल निगम (डीएमआरसी) के अधिकारियों ने इसे ‘नियमित निरीक्षण’ करार दिया है।
डीएमआरसी ने एक ट्वीट में कहा, ‘‘ डीएमआरसी के प्रमुख मंगू सिंह ने राजीव चौक मेट्रो स्टेशन का मुआयना किया। विभिन्न परिचालन प्रणाली और रखरखाव गतिविधियों के प्रभावी कामकाज की जांच करने के लिये यह नियमित निरीक्षण का हिस्सा था।’’ 
दिल्ली मेट्रो ने यात्रियों के लिए अधिक ई-लेनदेन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से बुधवार को घोषणा की कि एक नयी सुविधा से यात्रियों के स्मार्ट कार्ड स्वचालित किराया संग्रह (एएफसी) गेट पर स्वत: ही रिचार्ज हो जाएंगे। अधिकारियों ने बताया कि दिल्ली मेट्रो की सेवा जब भी शुरू होगी यह सुविधा दिल्ली मेट्रो रेल कार्पोरेशन (डीएमआरसी) के पूरे नेटवर्क पर इस्तेमाल के लिए उपलब्ध होगी। दिल्ली मेट्रो की सेवा कोविड-19 स्थिति के चलते 22 मार्च से बंद है।
इन नियमों के साथ खुल सकती है दिल्ली मेट्रो 
यात्री मेट्रो का इस्तेमाल सिर्फ और सिर्फ बहुत जरूरी होने पर ही करें। इसके साथ ही यह भी कहा गया है कि यात्रीगण मेट्रो में सफर करते वक्त भी सोशल डिस्टेंसिंग बरकरार रखें। मेट्रो में या स्टेशन पर यात्रा करते समय कृपया एक-दूसरे से कम से कम 1 मीटर की दूरी बनाए रखें। मेट्रो में अब खड़े होकर यात्रा करने की अनुमति नहीं दी जाएगी और बैठते वक्त भी यात्रियों को बीच में एक सीट छोड़कर बैठने की पहले ही हिदायत दी गई है। 
यदि किसी को बुखार है या कोरोना वायरस का कोई लक्षण दिखाई देता है, तो उसे चिकित्सा परीक्षण के लिए भेजा जाएगा।जिन स्टेशनों पर यात्रियों की भीड़ होगी यानी जहां यात्रियों के बीच 1 मीटर की अपेक्षित दूरी नहीं होगी वहां मेट्रो नहीं रुकेगी।

स्वच्छता सर्वेक्षण में शीर्ष स्थान हासिल करने वाले शहरों को पीएम मोदी ने दी बधाई

facebook twitter