+

मनचाहा वरदान प्राप्ति के लिए इस खास विधि से करें पूरे सावन के महीने भगवान शिव की आराधना

मनचाहा वरदान प्राप्ति के लिए इस खास विधि से करें पूरे सावन के महीने भगवान शिव की आराधना
सावन का महीना भगवान शिव की आराधना के लिए विशेष माना जाता है और  साल 2020 का सावन का महीना शुरू हो गया है,जो बीते सोमवार से ही शुरू हुआ है। हिन्दू धर्म में शिव भक्तों के इस महीने का खास महत्व होता है। इस पूरे माह में भोलनाथ की पूजा की जाती है।  मान्यता है कि इस खास महीने में जो भी भक्त सच्चे मन से भगवान शिव की पूजा करते है उनकी सभी मनोकामनाएं जल्द ही पूर्ण हो जाती है। वहीं हिंदी पंचांग के अनुसार चैत्र माह से प्रारंभ होने वाले हर वर्ष के, पांचवें महीने में ही श्रावण मास आता है जबकि अंग्रेजी कैलेंडर की मानें तो, हर वर्ष सावन का महीना जुलाई या अगस्त में पड़ता है।

धार्मिक मान्यताओं के मुताबिक कहा जाता है सावन के महीने में पड़ने वाले पहले सोमवार से लेकर इस पूरे महीने भगवान शिव की पूजा अर्चना करने पर जल्द ही सभी मनोकामनाएं पूर्ण हो जाती हैं। इस महीने में शिव भक्त अपनी कांवड़ यात्रा भी शुरू करते हैं,लेकिन इस साल कोरोना महामारी के चलते देशभर में लॉकडाउन होने के कारण कांवड़ यात्रा पर रोक लगा दी गई है,वहीं इस बार सावन महीने में शुभ संयोग बन रहा है।


बता दें कि सावन के पूरे महीने में भोलेनाथ की पूजा अर्चना करने से विशेष फल की प्राप्ति होती है। ऐसे  में आज हम आपको सावन के महीने भगवान शिव की पूजा विधि बताने जा रहे हैं। ताकि इस विधि से आप भगवान शिव शंकर की आराधना करके आसानी से शिवजी को प्रसन्न कर सकते हैं इसके साथ ही इससे आपकी हर इच्छा पूरी होने की संभावना कई गुना ज्यादा हो जाती है। 

सावन के महीने में शिव भगवान की पूजा विधि

सावन के महीने में सुबह जल्दी उठकर स्नान करके साफ कपड़े पहनें लें और पूजा घर की अच्छे से करें, साथ ही वहां गंगाजल का छिड़काव करें और घर में पूजा करें। इसके बाद आसपास के मंदिर में जाकर शिवलिंग पर जल व दूध का अभिषेक भी करें और भगवान शिव और शिवलिंग को चंदन का तिलक लगाएं।


अब भगवान शिव को सुपारी, पंच अमृत, नारियल, बेल पत्र, धतूरा, फल, फूल आदि अर्पित करें। इसके बाद मंदिर में दीपक जलाएं और भगवान शिव का ध्यान करें और आपके द्वारा जाने-अनजाने में की गयी   गलती के लिए क्षमा मांगे। इसके बाद शिव कथा व शिव चालीसा का पाठ कर, महादेव की आरती करें। ध्यान रहे आपको ऐसा पूरे महीने नियमित रूप से करना होगा और ऐसा करने से आपकी जल्दी ही सभी मुरादें पूरी हो जायेंगी।
facebook twitter