+

बिना नाम लिए भतीजे ने चाचा पर साधा निशाना, कहा- सत्ता की कुर्सी के लिए पार्टी को JDU के हाथों में बेचने की कोशिश की

बिहार में दो विधानसभा सीटों के लिए उपचुनाव की तैयारी में सूबे की सियासी पार्टियां अपनी जीत पक्की करने के लिए रणनीति तैयार करने में लगी हैं।
बिना नाम लिए भतीजे ने चाचा पर साधा निशाना, कहा- सत्ता की कुर्सी के लिए पार्टी को JDU के हाथों में बेचने की कोशिश की
पटना : बिहार में दो विधानसभा सीटों के लिए उपचुनाव की तैयारी में सूबे की सियासी पार्टियां अपनी जीत पक्की करने के लिए रणनीति तैयार करने में लगी हैं। इस बीच जुमई से सांसद चिराग पासवान और केंद्रीय खाद्य प्रसंस्करण मंत्री पशुपति कुमार पारस के बीच पार्टी सिंबल (को लेकर चल रही खींचतान पर चुनाव आयोग चुनाव आयोग ने लोजपा के सिंबल (बंगला) को फ्रीज कर दिया है।
चुनाव आयोग के फैसले को पासवान ने बताई अपनी जीत
चुनाव आयोग के इस फैसले के बाद चिराग पासवान इसे अपनी जीत बता रहे हैं। जमुई सासंद लोजपा सांसद चिराग पासवान ने चुनाव आयोग के फैसले को अपनी जीत बताई है। उन्होंने ट्वीट लिखा है, लोजपा को तोड़ने की लगातार साजिश की जा रही है। चिराग के मुताबिक चुनाव आयोग ने चिराग गुट के तर्कों को जगह दी है।
लोजपा के कार्यकर्ताओं से उन्होंने वादा किया है कि जीत हमारी होगी। पारस का बिना नाम लिए उनपर सियासी वार किया है। चिराग ने लिखा है कि, सत्ता की एक कुर्सी के लिए पार्टी को जनता दल यूनाइटेड के हाथों बेचने की कोशिश की गई। लेकिन हमारी पार्टी के कार्यकर्ता इस साजिश को सफल नहीं होने देंगे।
गौरतलब है कि, बिहार में तारापुर और कुशेश्वरस्थान विधानसभा सीट पर 30 अक्टूबर को उपचुनाव होने हैं। इसको लेकर एनडीए ने उम्मीदवारों की भी घोषणा कर दी। दोनों सीटों पर चिराग पासवान ने भी उम्मीदवार खड़ा करने की बात कही है। पिछले दिन चुनाव आयोग ने लोजपा के पार्टी सिंबल (बंगला) को फ्रीज कर दिया। चुनाव आयोग के फैसला के बाद चिराग और पारस गुट दोनों इसे अपनी-अपनी जीत बताने में लगे हैं।

भवानीपुर में ममता की बड़ी जीत, दीदी बोली- नंदीग्राम में रची गई साजिश का जनता ने दिया मुंहतोड़ जवाब

facebook twitter instagram