+

वाराणसी की महिला कारीगरों ने PM मोदी और गलवान घाटी में तैनात सैनिकों को भेजी लकड़ी की राखियां

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गलवान घाटी में तैनात सैनिकों के लिए वाराणसी की महिला कारीगरों ने लकड़ी की राखियां भेजी हैं।
वाराणसी की महिला कारीगरों ने PM मोदी और गलवान घाटी में तैनात सैनिकों को भेजी लकड़ी की राखियां
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गलवान घाटी में तैनात सैनिकों के लिए वाराणसी की महिला कारीगरों ने लकड़ी की राखियां भेजी हैं। राखियों को वाराणसी में प्रधानमंत्री के संसदीय कार्यालय को सौंप दिया गया है। महिला शिल्पकार शालिनी, वंदना, रीता, पुष्पा और सितम ने मोदी को एक पत्र भी भेजा है, जिसमें उनसे अनुरोध किया गया है कि वे सुनिश्चित करें कि राखी गलवान घाटी में सैनिकों तक पहुंचे। 
गिफ्ट पैकेट में लकड़ी के लाह और खिलौने भी शामिल हैं। जियोग्राफिकल इंडिकेशन (जीआई) विशेषज्ञ रजनी कांत ने महिलाओं को लकड़ी की राखियां बनाने में मदद की है। उन्होंने कहा कि ये राखियां एक सप्ताह पहले बनानी शुरू की थीं। 

असम और बिहार में बाढ़ से 6 और लोगों की हुई मौत, 55 लाख से अधिक आबादी प्रभावित


शालिनी ने कहा, "यह हमारी ओर से प्रधानमंत्री और हमारी सुरक्षा के लिए लड़ने वाले सैनिकों के लिए प्यार और विनम्र भाव हैं।"उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस महामारी के बीच, वाराणसी की महिला कारीगरों को जीआई टैग की गई लकड़ी से लगभग 50 हजार राखियां बनाने का रोजगार का अवसर मिला है। 

facebook twitter