+

यूपी में फिल्म सिटी को योगी की हरी झंडी, यमुना एक्सप्रेस-वे के किनारे 1000 एकड़ जमीन पर बनेगी फिल्म सिटी

मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से जारी एक बयान के अनुसार उन्होंने यह भी घोषणा की कि 1,000 एकड़ जमीन की, गौतमबुद्ध नगर में यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिकी विकास प्राधिकरण (वाईईआईडीए) ने पहचान कर ली है जहां विश्व स्तरीय नागरिक, सार्वजनिक और प्रौद्योगिकी सुविधाओं से युक्त एक समर्पित ‘इंफोटेनमेंट जोन’ की स्थापना की जाएगी।
यूपी में फिल्म सिटी को योगी की हरी झंडी, यमुना एक्सप्रेस-वे के किनारे 1000 एकड़ जमीन पर बनेगी फिल्म सिटी
उत्तर प्रदेश में फिल्म सिटी को लेकर घोषणा के कुछ दिन के भीतर ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने फिल्म सिटी स्थापित करने की एक महत्वाकांक्षी योजना मंगलवार को सामने रखी और फिल्म बिरादरी को राज्य में आने के लिए एक खुली पेशकश की।

मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से जारी एक बयान के अनुसार उन्होंने यह भी घोषणा की कि 1,000 एकड़ जमीन की, गौतमबुद्ध नगर में यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिकी विकास प्राधिकरण (वाईईआईडीए) ने पहचान कर ली है जहां विश्व स्तरीय नागरिक, सार्वजनिक और प्रौद्योगिकी सुविधाओं से युक्त एक समर्पित ‘इंफोटेनमेंट जोन’ की स्थापना की जाएगी।

इसमें कहा गया है, ‘‘मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रस्तावित स्थल नयी दिल्ली से एक घंटे की दूरी पर है और जेवर में प्रस्तावित अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के बहुत नजदीक है जो कि एशिया का सबसे बड़ा ग्रीनफील्ड हवाई अड्डा होगा।’’ बयान में कहा गया है कि साथ ही यह आगरा, जहां ताजमहल स्थित है तथा मथुरा से भी नजदीक है जहां भगवान कृष्ण का जन्म हुआ था। 

साथ ही यह नोएडा में प्रस्तावित ‘लॉजिस्टिक हब’ के भी नजदीक है। इससे इसके लिए परिवहन और आवागमन की सभी सुविधाएं मिलेंगी। वाईईआईडीए ने एक्सप्रेस-वे से लगे सेक्टर 21 में जमीन चिह्नित करने के बाद रविवार को राज्य सरकार को एक प्रस्ताव भेजा था। वाईईआईडीए के विशेष कार्य अधिकारी (ओएसडी) शैलेंद्र भाटिया ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘राज्य सरकार ने गौतमबुद्ध नगर में यमुना एक्सप्रेस-वे से लगे सेक्टर 21 में फिल्म सिटी स्थापित करने के प्रस्ताव को आज मंजूरी दे दी।’’
facebook twitter