+

बलिया गोलीकांड के आरोपी के हिमायती बने बीजेपी MLA बोले-अभी तक नहीं मिला कोई नोटिस

रेवती हत्याकांड में शुरू से ही आरोपी पक्ष के साथ खड़े दिख रहे पार्टी विधायक सिंह को बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने गत रविवार को विधायक सुरेंद्र सिंह को कारण बताओ नोटिस जारी किया है।
बलिया गोलीकांड के आरोपी के हिमायती बने बीजेपी MLA बोले-अभी तक नहीं मिला कोई नोटिस
उत्तर प्रदेश के बलिया में हुई गोलीकांड के मुख्य आरोपी के हिमायती बने बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह ने बुधवार को कहा कि उन्हें इस मामले में पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह की तरफ से कोई नोटिस अभी तक नहीं मिला है। दरअसल, आरोपी के समर्थन में बयान देने और आरोपी के परिजनों से मुलाकात करने पर बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और प्रदेश पार्टी अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने नाराजगी जताई थी।
बीजेपी विधायक सिंह ने बुधवार बताया कि उन्हें पार्टी प्रदेश अध्यक्ष की तरफ से अभी तक कोई नोटिस नहीं मिला है। उन्होंने कहा कि नोटिस मिलने पर वह उसका जवाब देंगे। रेवती हत्याकांड में शुरू से ही आरोपी पक्ष के साथ खड़े दिख रहे पार्टी विधायक सिंह को बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने गत रविवार को विधायक सुरेंद्र सिंह को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। 
स्‍वतंत्र देव सिंह ने बताया कि विधायक को नोटिस जारी करते हुए उनसे एक सप्‍तााह में जवाब मांगा गया है। उन्‍होंने कहा कि विधायक को रविवार को नोटिस दिया गया है। स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि विधायक को हिदायत दी गई है कि वह अनावश्‍यक बयानबाजी न करें और कानून को अपना काम करने दें। यह पूछे जाने पर कि क्‍या बीजेपी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष जेपी नड्डा की तरफ से कोई हस्‍तक्षेप हुआ है, प्रदेश अध्‍यक्ष ने कहा कि उन्‍होंने दूरभाष पर इस मामले की जानकारी ली थी। 
विधायक सुरेंद्र सिंह ने बताया कि उन्होंने गत 18 अक्टूबर को प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और महासचिव सुनील बंसल से मुलाकात कर अपना पक्ष रखा था। वह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात कर मामले की सीबीसीआईडी जांच की मांग रखना चाहते थे। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री योगी के बिहार चुनाव के दौरे में व्यस्त रहने के कारण उनसे मुलाकात नहीं हो सकी है। 
बैरिया क्षेत्र से बीजेपी विधायक सिंह ने विश्वास जताया कि रेवती कांड में दूसरे पक्ष की तरफ से भी शीघ्र मुकदमा दर्ज हो जायेगा। गौरतलब है कि बलिया जिले के रेवती थाना क्षेत्र के दुर्जनपुर ग्राम में बृहस्पतिवार को सरकारी सस्ते गल्ले की दुकान के आवंटन के दौरान गोली चलने से जयप्रकाश पाल नामक व्यक्ति की मौत हो गयी थी तथा कई लोग घायल हो गये थे। राज्य पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स ने मामले के मुख्य आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह को रविवार को लखनऊ में गिरफ्तार किया था। 
विपक्ष ने विधायक सिंह के आरोपी धीरेंद्र के पक्ष में खड़े होने को मुद्दा बनाते हुए पूछा है कि अपराधी के साथ खड़े होने वाले विधायक अभी तक भाजपा में क्यों बने हुए हैं। 
facebook twitter instagram