क्लास के बाहर कटोरा लेकर खड़ी इस बच्ची को स्कूल में ऐसे मिला एडमिशन

यूं तो आए दिन सोशल मीडिया पर कई सारी तस्वीरें वायरल रहती हैं, लेकिन हाल ही में वेंकेट रेड्डी आर ने जो तस्वीर अपने फेसबुक अकाउंट पर शेयर की है वो वाकई दिल को छू देने वाली तस्वीर है। जी हां वेंकेट रेड्डी आर ने एक तस्वीर शेयर की है। इसमें क्लास के अंदर कुछ बच्चे पढ़ते हुए नजर आ रहे हैं। वहीं इस तस्वीर में एक बच्ची ऐसी भी दिखाई दे रही है जो क्लास के दरवाजे के बाहर हाथ में एक बड़ा सा कटोरा लेकर खड़ी है और चुपचाप क्लास के अंदर झांक रही है। उन्होंने लिखा इस बच्ची को क्या भोजन का अधिकार और पढऩे का अधिकार नहीं है? शेम।


खैर,आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यह तस्वीर एक तेलुगु अखबार में छपी थी। इसके बाद बस हुई कि आखिरकार क्यों इस बच्ची को स्कूल में एडमिशन नहीं मिल सकता है।  बताया जा रहा है कि यह फोटो एक सरकारी स्कूल की है। 


बच्ची स्कूल में आई थी खाना खाने

सूत्रों के मुताबिक पता चला इस मासूम बच्ची का नाम दिव्या है। यह इस स्कूल की छात्रा नहीं है। यहां पर यह बच्ची रोजाना मिड डे मील खाने आती है। क्योंकि दिव्या स्लम एरिया में रहती है। बच्ची के माता-पिता कूड़ा बीनने का काम करते हैं। 


स्कूल में बच्ची को एडमिशन दिलवाया

वेंकेट रेड्डी ने MV Foundation नाम के गैर सरकारी संस्था से बातचीत करी। यह संस्था लड़कियों की पढ़ाई करवाने का कार्य करती है। इन्होंने दिव्या का स्कूल में एडमिशन करवा दिया। इसकी फोटो अब वेंकेट ने फेसबुक पर शेयर की है। उन्होंने बताया कि दिव्या अब खुशी से फुली नहीं समा पा रही है,क्योंकि उसे अब खाना और शिक्षा दोनों एक साथ मिलेगा।

वेंकेट ने इस पूरे वाक्ये की तस्वीर अपने फेसबुक पर शेयर की है। इसके बाद एक गैरसरकारी संस्था ने दिव्या की सहायता की। जिसके बाद दिव्या को स्कूल में एडमिशन मिला। वहीं लोगों ने भी वेंकेट द्घारा किए गए इस काम की खूब सरहाना की है। 
Tags : Chhattisgarh,Punjab Kesari,जगदलपुर,Jagdalpur,Sanctuaries,Indravati National Park ,R,school,Venkat Reddy