+

राहुल गांधी ने नीट में शामिल हो रहे छात्रों को शुभकामनाएं दीं, PM मोदी के लिए कही ये बात

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने नीट परीक्षा में बैठ रहे छात्रों को शुभकामनाएं दीं और साथ ही कोविड-19 महामारी तथा बाढ़ के कारण इस परीक्षा में नहीं बैठ पाए छात्रों के प्रति सहानुभूति व्यक्त की।
राहुल गांधी ने नीट में शामिल हो रहे छात्रों को शुभकामनाएं दीं, PM मोदी के लिए कही ये बात
देशभर में रविवार दोपहर 2 बजे से नीट मेडिकल की प्रवेश परीक्षा नीट (राष्ट्रीय प्रवेश सह पात्रता परीक्षा) परीक्षाएं आरंभ हो गई हैं। परीक्षा में सोशल डिस्टेंसिंग का सबसे अधिक ध्यान रखा जा रहा है। इसी बीच कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने नीट परीक्षा में बैठ रहे छात्रों को  शुभकामनाएं दीं और साथ ही कोविड-19 महामारी तथा बाढ़ के कारण इस परीक्षा में नहीं बैठ पाए छात्रों के प्रति सहानुभूति व्यक्त की। 
उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना करते हुए कहा कि काश वह जेईई-नीट अभ्यर्थियों की चिंता करते। गांधी ने ट्विटर पर लिखा, ‘‘नीट परीक्षा में शामिल हो रहे विद्यार्थियों को मेरी शुभकामनाएं और जो छात्र कोविड-19 महामारी तथा बाढ़ के कारण इस परीक्षा में नहीं बैठ सके, उनके प्रति मेरी सहानुभूति।’’ उन्होंने आगे लिखा, ‘‘काश मोदी जी जेईई-नीट अभ्यर्थियों और छात्रों की भी उतनी ही परवाह करते जितनी कि वह अपने सांठगांठ वाले पूंजीपति मित्रों की करते हैं।’’ 
गांधी और कांग्रेस पार्टी नीट एवं जेईई परीक्षा को स्थगित करने की मांग कर रहे थे। उनका कहना था कि महामारी के कारण बने हालात इन परीक्षाओं को आयोजित करने के लिहाज से अनुकूल नहीं हैं। उन्होंने यह भी कहा कि ऐसे समय में परीक्षा आयोजित करना उनके जीवन को खतरे में डालना है। 
परीक्षा का आयोजन करने वाली राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (एनएटी) ने कहा कि सामाजिक दूरी कायम रखने के लिए परीक्षा केंद्रों की संख्या 2,546 से बढ़ाकर 3,843 की गई है जबकि हर कमरे में बैठने वाले अभ्यर्थियों की संख्या 24 से घटाकर 12 की गई है। राष्ट्रीय प्रवेश सह पात्रता परीक्षा (नीट) कलम एवं पेपर पर आधारित परीक्षा है जबकि इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेईई मुख्य परीक्षा ऐसी नहीं थी । 
कोरोना वायरस के प्रकोप के कारण नीट को दो बार पहले टाला जा चुका है। यह परीक्षा 3 मई को होनी थी और फिर बाद में इसे 26 जुलाई के लिए आगे बढ़ा दिया गया था। अब यह परीक्षा रविवार 13 सितंबर को आयोजित की जा रही है। 
नीट परीक्षा के लिए 15.97 लाख छात्रों ने पंजीकरण कराया है। 

कंगना विवाद के बीच सीएम ठाकरे बोले- महाराष्ट्र को किया जा रहा है बदनाम, खामोशी मेरी कमजोरी नहीं


facebook twitter