+

रवि शास्त्री टीम इंडिया की ऐतिहासिक जीत के बाद खिलाड़ियों में जोश भरते दिखे ,ड्रेसिंग रूम से सामने आया वीडियो

ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम को उसी के घर में पटकने के बाद चारों तरफ टीम इंडिया का डंका बज रहा है।
रवि शास्त्री टीम इंडिया की ऐतिहासिक जीत के बाद खिलाड़ियों में जोश भरते दिखे ,ड्रेसिंग रूम से सामने आया वीडियो
ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम को उसी के घर में पटकने के बाद चारों तरफ टीम इंडिया का डंका बज रहा है। पहले टेस्ट में महज 36 रन पर सिमटने के बाद ब्रिस्बेन टेस्ट में भारतीय टीम की जीत और सीरीज पर कब्जा किसी सपने से कम नहीं है। इस दौरान टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली और गई दिग्गज खिलाडिय़ों के बगैर युवा ब्रिगेड ने जो जज्बा दिखाया है वो वाकई काबिले तारीफ है। ऐसे में कोच रवि शास्त्री भी इन युवाओं के कायल हो गए हैं। 


दरअसल सीरीज जीतने के बाद ड्रेसिंग रूम में रवि शास्त्री खिलाडिय़ों में जोश भरते हुए दिखाई दिए। अब इस खास पल का वीडियो सोशल मीडिय पर तेजी से वायरल हो रहा है। 


बीसीसीआई ने साझा किया वीडियो

इस वीडियो में आप देख सकते हैं शुरुआत जीत के बाद खुशी मनाते भारतीय खिलाडिय़ों की तस्वीरों की होती है। एक दूसरे से गले-मिलते और प्रोत्सहित करते ये जांबाज हाथों में तिरंगा थामे गाबा के चक्कर लगाते हैं। वहीं ट्रॉफी उठाए कप्तान रहाणे के चेहरे पर बड़ी सी मुस्कुराहट गदगद कर देती है। इसके बाद कोच रवि शास्त्री टीम का मनोबल बढ़ाते नजर आते हैं।
इस दौरान शास्त्री कहते हैं 36 रन पर आउट होने के बाद यह अवास्तविक सा लगता है। यह जीत रातों-रात नहीं आई है, इस जज्बे के लिए हमने एक लंबा समय तय किया है। इस लम्हे का भरपूर आनंद लो, इसे ऐसे ही मत जाने दो। शास्त्री ने शुभमन गिल, चेतेश्वर पुजारा, ऋषभ पंत और कार्यवाहक कप्तान अजिंक्य रहाणे की दिलखोल तारीफ की। खास बात इस बीच पूरा ड्रेसिंग रूम तालियों और सीटियों से गूंजता रहा।


इन तीन खिलाड़ियों का भी बढ़ाया मनोबल

टीम की ऐतिहासिक जीत पर कोच शास्त्री ने वाशिंगटन सुंदर,शार्दुल ठाकुर और टी नटराजन जैसे नए खिलाडिय़ों के योगदान की जमकर सराहना की। सुंदर नेट गेंदबाज के तौर पर आए थे,जबकि नटराजन नेट गेंदबाज थे। मगर उन्होंने अपना शानदार खेल दिखाया। दरअसल सुंदर ने ऐसी बल्लेबाजी की जैसे कि उन्होंने पहले ही 20 टेस्ट खेल लिए हो। 


ऐसा ही कुछ शार्दुल के साथ भी हुआ। शास्त्री फिजियो की भी तारीफ करना नहीं भूले और पूरे दौरे में जिस तरह से खिलाड़ी चोटिल हो रहे थे,उसके मद्देनजर टीम के इस सपोर्ट स्टाफ का काम काफी ज्यादा बढ़ गया था। 



facebook twitter instagram